BAMS क्या है? BAMS Course कैसे करे, पूरी जानकारी।

हेलो दोस्तों सवागत है आप सभी का आज के हमारे इस नए आर्टिकल में, आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है BAMS क्या है? BAMS Course कैसे करे, पूरी जानकारी। अगर आप मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो सीएमएस ईडी कोर्स आपके लिए बहुत ही अच्छा कोर्स साबित हो सकता है|

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो यह सबसे अच्छा कोर्स है लेकिन आपको यह कोर्स करने के लिए अच्छे खासे चीज की जरूरत पड़ेगी।BAMS कोर्स को करने के लिए क्या योग्यता चाहिए, BAMS Course फीस लगेगी, पूरी जानकारी| आज हम आपको BAMS Course  (Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery) कोर्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

BAMS क्या है? BAMS Course कैसे करे

इस कोर्स में शरीररचना विज्ञान, शरीरक्रिया विज्ञान, चिकित्सा के सिद्धान्त, रोगों से बचाव तथा सामाजिक चिकित्सा, फर्माकोलोजी, विषविज्ञान, फोरेंसिक चिकित्सा, कान-नाक-गले की चिकित्सा, आँख की चिकित्सा, शल्यक्रिया मॉडर्न मेडिसिन पुर्ण ज्ञान व के सिद्धान्त आदि पढ़ाया जाता है|

यह कोर्स भारतीय आयुष मंत्रालय द्वारा प्रमाणित है इस कोर्स को करके आप शुरुआती डॉक्टर प्रैक्टिस कर सकते हैं।

BAMS का मतलब होता है Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery. यह BAMS Full Form है. यह एक Professional Ayurvedic / Ayurveda Degree है जो कि भारत, नेपाल, बांग्लादेश और कई सारे Asian देशों में मान्य है। यह Professional Degree लगभग साढ़े पाँच साल की होती है जिसमें एक साल की internship भी शामिल होती है|

BAMS Course kya hai 

BAMS डॉक्टरी की एक ग्रेजुएट डिग्री होती हैं, इसे बैचलर डिग्री भी कह सकते हैं। BAMS का पूरा नाम होता है बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी। यह पुरानी आयुर्वेदिक चिकित्सा का आधुनिक संरचना है। यह कोर्स करने में पांच साल छः महीना लगता है|

BAMS का फुल फॉर्म “Bachelor Of Ayurvedic Medicine & Surgery” होता है। जिसे हिंदी में (B.A.M.S Full Form in Hindi) “बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी” कहते है।

  • दोस्तों BAMS का कोर्स करने के लिए आप 12वीं पास होनी चाहिए और वह भी Medical science  के साथ एवं दूसरी विषय जैसे कि फिजिक्स केमिस्ट्री में कम से कम 50℅ नंबर होने चाहिए तभी आप BAMS ka course कर सकते हैं
  • अब अगर बात करें कि आपकी उम्र कितनी होनी चाहिए तो BAMS course करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 17 साल होने चाहिए|

BAMS करने के फायदे

  • यह एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें की रिसर्च का भी काम होता है तो आगे चलकर आप भी रिसर्च टीम में जुड़ सकते हैं और कुछ नए खोज कर सकते हैं|
  • दोस्तों जैसा कि आप सभी लोगों को पता है कि सिर्फ भारत में ही नहीं पूरे दुनिया में डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया जाता है तो इस स्थिति में इस समाज में आप की एक अलग ही पहचान बनेगी और आपका लाइफ स्टाइल पूरी तरह से बदल जाएगा |
  • Bams course करने के बाद आप एक अच्छी नौकरी पा सकते हैं जिसकी न्यूनतम सैलरी 40000 की तो होगी और भविष्य में जाकर आपकी सैलरी बढ़ती ही चली जाएगी|
  • अगर आप चाहे तो आप खुद का ही भी आयुर्वेदिक मेडिकल खोल सकते हैं जो कि बिना इस कोर्स को किए मुमकिन नहीं है|

प्रवेश परीक्षा

कुछ प्रमुख परीक्षाएं इस प्रकार हैं-

नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ आयुर्वेद एंट्रेंस एग्जाम
उत्तराखंड पीजी मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम
केरल स्टेट एंट्रेंस एग्जाम
कॉमन एंट्रेंस टैस्ट (सीईटी), कर्नाटक
आयुष एंट्रेंस एग्जाम

अगर आपकी रैंक अच्छी रही तो आपको Government College में प्रवेश मिल मिलता है। वंही अगर आपके कम अंक है तो फिर आप किसी भी प्राइवेट कॉलेज में प्रवेश ले सकते है।

  • ओडिशा संयुक्त प्रवेश परीक्षा
  • केरल इंजीनियरिंग, कृषि और चिकित्सा
  • गोवा कॉमन एंट्रेंस टेस्ट
  • भारती विद्यापीठ कॉमन एंट्रेंस टेस्ट

Qualification

  • अपनी 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा न्यूनतम 50%-60% अंकों से उत्तीर्ण करना होगी। हालांकि यह प्रत्येक कॉलेज के अनुसार अलग हो सकते है
  • 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में उम्मीदवारों के पास मुख्य विषय के रूप में भौतिकी (Physics), रसायन विज्ञान (Chemistry) और जीव विज्ञान (Biology) होना चाहिए।
  • BAMS कोर्स के लिए न्यूनतम आयुसीमा 17 वर्ष है जबकि सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए NEET परीक्षा में अधिकतम आयु सीमा 20 वर्ष है। वहीं, आरक्षित वर्ग को 4 साल की छूट दी गई है।

बीएएमएस कोर्स की फीस 25 हजार रूपये से लेकर 3 लाख रूपये प्रतिवर्ष के बीच होती है। ये फीस कॉलेज की लोकप्रियता एवं उनके द्वारा प्रदान की जाने सुविधाओं के अनुसार अलग-अलग हो सकती है। अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से BAMS कोर्स करते है तो वहां आपको बहुत कम फीस चुकानी पड़ती है, जो लगभग 25 से 50 हजार रूपये प्रतिवर्ष के बीच हो सकती है।

BAMS करने के फायदे

  • बीएएमएस करके आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के बाद आपको बहुत ही शानदार सैलरी दी जाती है जो कि 40,000 से 50,000 हो सकती है।
  • आप चाहे तो अपना खुद का भी Ayurvedic Medical भी खोल सकते है।
  • किसी आयुर्वेदि क्लिनिक में Junior Doctor के रूप में काम कर सकते है।
  • यह क्षेत्र ऐसा होता है जिसमें रिसर्च का भी बहुत काम होता है, इसलिए यह कोर्स करके रिसर्च से भी जुड़ सकते है।

BAMS के बाद क्या करे

आप फार्मा उद्योग, जीवन विज्ञान उद्योग और स्वास्थ्य सेवा समुदाय आदि के क्षेत्र में भी काम कर सकते है। इन सब से अलावा BAMS कोर्स के बाद और भी ऐसे बहुत से करियर विकल्प मौजूद है जिन्हे आप चुन सकते है –

  • लेक्चरर
  • थेरेपिस्ट
  • आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट
  • साइंटिस्ट
  • मेडिकल सेल्स रिप्रेजेंटेटिव
  • जूनियर क्लीनिकल ट्रायल कॉर्डिनेटर
  • एरिया सेल्स मैनेजर
  • प्रोडक्ट मैनेजर

1st Year BAMS Course Syllabus

  • PADARTHA VIGYAN AND AYURVED ITIHAS
  • SANSKRIT
  • 1KRIYA SHARIR
  • RACHANA SHARIR
  • MAULIK SIDDHANT AVUM ASHTANG HRIDAYA

2nd Year BAMS कोर्स सलेबस

  • DRAVYAGUNA VIGHYAN
  • ROGA NIDAN
  • RASASHATRA
  • CHARAK SAMHITA

3rd Year BAMS कोर्स सलेबस

  • AGADTANTRA
  • SWASTHAVRITTA
  • PRASUTI TANTRA EVUM STRI ROGA
  • KAUMARBHRITYA PARICHAYA
  • CHARAK SAMHITA (UTTARARDHA)

4th Year BAMS कोर्स सलेबस

  • KAYACHIKITSA
  • PANCHKARMA
  • SHALYA TANTRA
  • SHALAKYA TANTRA
  • RESEARCH METHODOLOGY AND MEDICAL STATISTICS

Salary कितनी होती है

वेतन 4,00,000 से 12,00,00 रूपये प्रतिवर्ष के बीच होता है।

  • आयुर्वेदिक फिजिशियन – 3,62,000 ₹/- प्रतिवर्ष
  • आयुर्वेदिक डॉक्टर – 13,48,000 ₹/- प्रतिवर्ष
  • मेडिकल ऑफिसर – 4,88,000 ₹/- प्रतिवर्ष
  • सेल्स रिप्रेजेन्टेटिव – 2,76,000 ₹/- प्रतिवर्ष
  • लेक्चरर – 2,94,000 ₹/- प्रतिवर्ष
  • फार्मासिस्ट – 2,46,000 ₹/- प्रतिवर्ष

भारत में BAMS के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज

  • आयुर्विज्ञान संस्थान (BHU)
  • राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय
  • उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय हर्रावाला
  • राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान
  • स्वास्थ्य विज्ञान के महाराष्ट्र विश्वविद्यालय
  • पतंजलि आयुर्वेद कॉलेज, हरिद्वार
  • सुमतिभाई शाह आयुर्वेद महाविद्यालय मालवाड़ी, पुणे
  • डॉ डीवाई पाटिल विश्वविद्यालय, नवी मुंबई
  • विदर्भ आयुर्वेद महाविद्यालय, अमरावती
  • सीएच ब्रह्म प्रकाश आयुर्वेद चरक संस्थान, नई दिल्ली

BAMS क्या है संबंधित कुछ सवाल जवाब (FAQ):

BAMS कोर्स की फीस कितनी होती है?

बीएएमएस करने की अवधी 5 साल है, जिसमे 4 साल विद्यार्थी को अकादमिक शिक्षा दी जाती है और 1 साल की इंटर्नशिप शामिल होती है। अगर हम इसकी फीस की बात करें तो कोर्स को पूरा करने में 3 से 5 लाख रूपए तक फीस लग सकती है।

बीएएमएस डॉक्टर कैसे बनते हैं?

Ayurvedic Doctor कैसे बने – बीएएमएस कोर्स आयुर्वेद में डॉक्टर बनने के लिए आप नीट-यूजी परीक्षा के जरिए बीएएमएस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

MBBS की फीस कितनी है?

एमबीबीएस (MBBS) सीटें (मैनेजमेंट और एनआरआई कोटा) उपलब्ध हैं।

डॉक्टर बनने के लिए कौन कौन से कोर्स करना पड़ता है?

  • एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी)
  • बीडीएस (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी)
  • बीएएमएस (बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी)
  • बीएचएमएस (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी)

यह भी पढ़े – 

Satta Matka Kurla Day, सट्टा मटका कुर्ला डे चार्ट रिजल्ट जाने

MBBS Full Form in Hindi | MBBS का फुल फॉर्म क्या होता है? जाने

Conclusion / निष्कर्ष:-

आशा करता हु दोस्तों आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आया होगा। और इस पोस्ट मे मेने BAMS क्या है? BAMS Course कैसे करे, पूरी जानकारी। इसके बारे मे पूरी जानकारी दी हुई है।

इसके लिए आप मेरे इस पोस्ट को शेयर भी कर सकते हो | अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं |

इसी तरह के जानकारी के लिए आप हमारी Website पर Visit करे, और अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने मित्रों को और अपने सोशल साइट शेयर जरूर करें, धन्यवाद

Leave a Comment