BBA full form: बीबीए (BBA) क्या है कैसे करें? जाने हिंदी में

BBA full form, हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का आज के इस नए पोस्ट में आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले है| BBA full form: बीबीए (BBA) क्या है कैसे करें? जाने हिंदी में, बीबीए फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है?

यह कोर्स पूरा कर लेने के बाद बहुत सी कंपनियों में अच्छी जॉब मिलने की संभावना रहती है। इसके अलावा यह एक बिज़नेस से सम्बंधित कोर्स होता है, जिसमें नौकरी मिलना आसान होता है |

BBA full form: बीबीए (BBA) क्या है कैसे करें?

बिजनेस Management में जाने की तमन्ना रखने वाले युवक BBA करते है और इसके बाद मास्टर बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन यानि MBA की मास्टर डिग्री को करते हैं.

BBA का फुल फॉर्म “Bachelor Of Business Administration” होता है. जिसे हिंदी में व्यावसायिक प्रबंधन में स्नातक कहा जाता है|

BBA के लिए कोर्स

BBA के कोर्स में कुल मिलाकर 6 Semester होते है, और इन 6 समेस्टर में अलग-अलग कई विषय दिए हुए होते है, जिनमे आपको सफलता प्राप्त करके डिग्री लेनी होती है | इसके समेस्टर इस प्रकार है-

Semester 1

Business English – I
Business Mathematics – I
Principles of Micro Economics
Principles of Financial Accounting
Fundamentals of Information Technology
Elements of Management
Enrichment Course-I

Course का Name BBA
BBA Full Form Bachelor of Business Administration
BBA Full Form in Hindi Vyavashayik Prabandhan Me Snatak (व्यवसायिक प्रबंधन में स्नातक)
विकिपीडिया बीबीए
श्रेणी शैक्षिक डिग्री

BBA Full Form In Hindi : ‘व्यवसायिक प्रबंधन में स्नातक’ 

अगर आप भी बीबीए करना चाहते है लेकिन आपको पता नहीं कि BBA Ke Liye Kya Kare तो ध्यान दें कि, इसके लिए आपको कुछ योग्यताओं को पूरा करना होता है। इसके बाद आप इसमें प्रवेश प्राप्त कर सकते है।

बीबीए के लिए योग्यता

  • आपने 12वीं 50% अंकों के साथ पास की हो।
  • आपने 12वीं किसी भी स्ट्रीम से पास की हो।

BBA Course Fees

अगर आप प्राइवेट कॉलेज से करते है तब इसकी प्राइवेट कॉलेज में लगभग 1 लाख से 2,5 लाख हो सकती है लेकिन अलग अलग प्राइवेट कॉलेज में अलग अलग फीस होती है

और अगर आप एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लिए हो तो ऐसे में आपको गवर्नमेंट कॉलेज में बहुत काम फीस लगेगा और आप आसानी के साथ अपने BBA कोर्स पूरा कम्पलीट कर सकते हो लेकिन इतना याद जरूर रखना गवर्नमेंट कॉलेज में फीस बहुत कम होती है.

Entrance Exam for Bachelor of Business Administration (BBA)

प्रवेश परीक्षा के नाम नीचे दिए गए हैं:

  • NPAT
  • UGAT
  • IPMAT
  • AUMAT
  • FEAT
  • BHU UET
  • CET BBA
  • SET
  • NPAT BBA
  • AIMA UGAT

BBA Course Subjects

  • Soft skills
  • Personality development
  • Writing skills
  • Etiquette
  • Consulting and problem-solving skills
  • Conventional skills
  • Conflict resolution and communication skills
  • Persuading skills
  • Selling


BBA की सैलरी 

BBA करने के बाद आपको बिजनेस से सम्बंधित जॉब करने में 15,000/- से 20,000/– हजार रुपये तक की सैलरी प्राप्त होगी | इसके बाद आपके अनुभव के मुताबिक़, आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी |

BBA Full form से जुड़े कुछ सवाल (FAQ):

BBA की फीस कितनी होती है?

BBA course ki fees कितनी होती है। सरकारी और प्राइवेट दोनों इंस्टीट्यूट की BBA course ki fees में काफी अंतर होता है। जहां सरकारी काॅलेज में BBA course ki fees 35,000 से 50,000 रूपए होती है वहीं प्राइवेट कॉलेज में BBA course ki fees लगभग 1-1.5 लाख रुपए से ही शुरु होती है और 4-6 लाख तक जा सकती है।

BBA के बाद क्या करे?

  1. एंटरप्रेन्योरशिप
  2. फाइनेंस एंड एकाउंटिंग मैनेजमेंट
  3. एचआर मैनेजमेंट
  4. मार्केटिंग मैनेजमेंट
  5. सप्लाई चेन मैनेजमेंट

एम बी ए कैसे करे?

  1. 12वी पास करे किसी भी सब्जेक्ट से
  2. ग्रेजुएशन या डिग्री पूरी करे 50% मार्क्स के साथ
  3. एंट्रेंस एग्जाम दे और क्लियर करे
  4. एमबीए में एडमिशन ले और पढाई पूरी करे.

BBA में कौन कौन सा विषय होता है?

BBA में बिजनेस मैथेमैटिक्स, बिजनेस एकोनोमिक्स, बिजनेस अकाउंटिंग, बिजनेस ऑर्गनायज़ेशन एंड सिस्टम, जैसे विषय है। इस कोर्स में 6 सेमेस्टर होती है।

Conclusion / निष्कर्ष:-

आशा करता हु दोस्तों आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आया होगा। और इस पोस्ट मे मेने BBA full form: बीबीए (BBA) क्या है कैसे करें? जाने हिंदी में इसके बारे मे पूरी जानकारी दी हुई है।

इसके लिए आप मेरे इस पोस्ट को शेयर भी कर सकते हो |अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं |

इसी तरह के जानकारी के लिए आप हमारी Website पर Visit करे, और अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने मित्रों को और अपने सोशल साइट शेयर जरूर करें, धन्यवाद

Leave a Comment