DRS Full Form Hindi: डीआरएस का फुल फॉर्म क्या है जाने

हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का आज की हमारे इस नए पोस्ट में आज हम बात करने वाले है DRS Full Form Hindi: डीआरएस का फुल फॉर्म क्या है जाने, क्रिकेट की दुनिया में हाल ही के कुछ सालों में एक नया नियम आया हैं. जिसके बारे में आप मैचों में देख और सुन रहे होंगे. आज हम आपको बताएँगे कि इस नियम की आखिर क्यों जरुरत पड़ी और इसको इस्तेमाल करने के क्या-क्या नियम हैं|

मैच के दौरान अंपायर से यदि गलती हो जाती हैं. तो इसका खामियाजा दूसरी टीम को मैच गंवाकर चुकाना पड़ सकता हैं. इसके बाद अंपायर को बहुत आलोचनाओं का सामना करना पड़ता हैं. इसको ही ध्यान में रखते हुए आईसीसी ने एक नया नियम बनाया हैं जिससे कोई भी टीम अंपायर के फैसले को चुनौती दे सकती है|

DRS Full Form Hindi: डीआरएस का फुल फॉर्म क्या है जाने

डीआरएस (DRS) का पूरा नाम डिसीजन रिव्यू सिस्टम है. इसके अलावा इसको कभी-कभी यूडीआरएस भी कहा जाता है. जिसका अर्थ होता हैं अंपायर डिसीजन रिव्यू सिस्टम (Umpire Decision Review System)

DRS FULL FORM – DECISION REVIEW SYSTEM होता हैं |

जब भी क्रिकेट का मैच चल रहा होता है तो डीआरएस के द्वारा अम्पायर के किसी भी निर्णय को चुनौती दी जाती हैं क्युकी जब भी क्रिकेट का मैच होता है तो उसके निर्णय अम्पायर द्वारा लिए जाते है पर कई बार किसी टीम को लगे की एम्पायर ने कोई भी गलत निर्णय लिया हैं तो वो टीम एम्पायर के निर्णय को डीआरएस  के माध्यम से चुनौती दे सकती है|

डीआरएस की प्रक्रिया:

अंपायर ने जो निर्णय लिया हैं वह गलत हैं. तो वह अंपायर की ओर हाथों से T निशान बनाकर डीआरएस पद्धति का इस्तेमाल कर सकता हैं. लेकिन खिलाडी को यह डिसिशन 10 सेकंड के भीतर ही लेना पड़ता हैं वरना वह इसका फायदा उठाने से वंछित रह सकता हैं. वही यह रिव्यू सिस्टम लेने के बाद थर्ड अंपायर फैसले की समीक्षा करता है|

जब भी कप्तान टी का निशान बनाकर डीआरएस  का निर्णय लेता है तो ऐसे में निर्णय का फैसला थर्ड एम्पायर के माध्यम से लिया जाता है और थर्ड एम्पायर जो भी फैसला लेता ही वो सभी को मानना होता है व यह अंतिम निर्णय होता है.

अगर समीक्षा के दौरान थर्ड अंपायर को लगता है कि खिलाड़ी आउट नहीं है. तो ऐसी स्थिति में थर्ड अंपायर फैसले को बदल देता है. वहीं पहले अंपायर का फैसला अगर समीक्षा के दौरान सही पाया जाता है, तो उनके फैसले को कायम रखा जाता है|

डीआरएस का प्रयोग

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ( International Cricket Council) द्धारा क्रिकेट के अलग अलग फॉर्मेट के अनुसार इसके प्रयोग करने की भी सीमाएँ रखी हुई है। किसी भी टीम को टेस्ट मैच में एक पारी में 2 बार , वनडे और टी 20 में पारी में एक बार डीआरएस लेने की अनुमति होती है।

इसी प्रकार अगर डीआरएस का फैसला टीम के हक में रहता है तो वे डीआरएस उसके लिए आगे भी बरकार रहता है और अगर डीआरएस का फैसला टीम के विरुद्ध हो जाता है तो डीआरएस को समाप्त कर दिया जाता है।

एक टीम डीआरएस कितनी बार ले सकती है ?

एक टीम DRS का डिसीजन केवल एक बार ही मांग सकती है अगर उस टीम का डीआरएस सही होता है तो भी बरकरार रहता है और अगर उसका रिव्यू गलत साबित होता है तो उसका रिव्यू फिर खत्म हो जाता है।

एक साल पहले तक डीआरएस का इस्तेमाल केवल टेस्ट मैच तक सीमित था. लेकिन 2017 में आईसीसी ने इसे टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में भी लागू कर दिया. इसके साथ ही गेंद-ट्रैकिंग और अल्ट्रा एज-डिटेक्शन तकनीक का प्रयोग करना अनिवार्य हो गया है|

अंपायर कॉल क्या होता हैं 

‘अंपायर कॉल’. डीआरएस के नये नियमों के तहत अब आउट करार दिये खिलाड़ी पर आए फैसले को पलटने के लिये अब आधी गेंद के पैड से टकराने के साथ साथ स्टम्प के नीचे वाले ऑफ और लेग स्टम्प के बीच से बदलकर ऑफ और लेग स्टम्प के बाहरी किनारों से घिरे गिल्ली के नीचे वाले हिस्सों को कर दिया गया है|

बदलाव के मुताबिक तीसरा अंपायर अगर एल बी डब्ल्यू में ‘अंपायर कॉल’ का फैसला लेता है, तो ऐसी स्थिति में रिव्यू लेने वाली टीम का रिव्यू बर्बाद नहीं जाएगा|

DRS के अन्य फुल फॉर्म

  • Data Recovery System
  • Department of Revenue Services
  • Dhoni Review System
  • Direct Rail Services
  • Direct Registration System
  • Domain Registration System
  • Driver Rectification Scheme

DRS Full Form Hindi (FAQ):

अंपायर कॉल क्या होता है?

अंपायर्स कॉल क्रिकेट में डीआरएस (Decision Review System) का ही एक हिस्सा होता है। जब कोई बल्लेबाज ग्राउंड अंपायर के फैसले से खुश ना होकर डीआरएस लेने का फैसला करता है, तब टीवी अंपायर बॉल ट्रैकिंग तकनीक के जरिए नतीजे तक पहुंचने का प्रयास करता है।

टेस्ट में कितने रिव्यू होते हैं?

टेस्ट क्रिकेट में एक पारी के अंदर दो बार रिव्यू लिया जाता है और वनडे और टी20 यह रिव्यू एक बार है. एक बार ही टीम रिव्यू ले सकती है और रिव्यू यदि सही जाता है तब उस स्थिति में रिव्यू आगे चला जाता है|

मैच में अंपायर की क्या स्थिति रहती है?

गेंदबाजी की वैधता का निर्णय लेने के अलावा, विकेट हेतु की गई अपील और खेल के सामान्य संचालन नियमानुसार किया जाता है, साथ ही अंपायर गेंदबाजी का रिकॉर्ड भी रखता है और ओवर पूरा होने की घोषणा करता है।

यह भी पढ़े – 

DSP Full Form In Hindi: डीएसपी का फुल फॉर्म क्या होता हैं जाने

PCB Full Form in Hindi: PCB का फुल फॉर्म क्या होता है? जाने

PCB Full Form in Hindi: PCB का फुल फॉर्म क्या होता है? जाने

CEO क्या होता है ? CEO Full Form जाने हिंदी में

Conclusion / निष्कर्ष:-

आशा करता हु दोस्तों आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आया होगा। और इस पोस्ट मे मेने DRS Full Form Hindi: डीआरएस का फुल फॉर्म क्या है जाने इसके बारे मे पूरी जानकारी दी हुई है। drs full form in cricket

इसके लिए आप मेरे इस पोस्ट को शेयर भी कर सकते हो | अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं |

इसी तरह के जानकारी के लिए आप हमारी Website पर Visit करे, और अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने मित्रों को और अपने सोशल साइट शेयर जरूर करें, धन्यवाद

Leave a Comment