Mutual Fund in Hindi: म्युचुअल फंड क्या है? जाने हिंदी में

Mutual Fund in Hindi, हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का आज की हमारे इस नए पोस्ट में आज हम बात करने वाले है Mutual Fund in Hindi: म्युचुअल फंड क्या है? जाने हिंदी में, म्यूचुअल फंड क्या है कैसे काम करता है और क्या हैं |

इसके फायदे और नुकसान आइये आज हिंदी में जानते हैं. यूनिट किसे कहते हैं, म्यूचुअल फंड की जानकारी, इसमें निवेश कैसे कर सकते हैं और कैसे यह शेयर बाज़ार में सीधे निवेश करने के बजाए ज्यादा सुरक्षित निवेश माना जाता है।

अब बहुत सी कंपनियां इस स्कीम के ऊपर बन गयी हैं. दरअसल Mutual Fund का हिंदी में अर्थ है आपसी पूंजी जिसमें एक से अधिक लोग शामिल हो सकते हैं. शेयर मार्केट का नाम तो आपने सुना ही होगा दरअसल जिन लोगो के पास ज्यादा पैसा होता है तो वह अपने बड़ी रकम को शेयर मार्किट में लगाकर पैसे कमाते है लेकिन शेयर मार्किट में 500 रूपये तक की छोटी रकम नहीं लगा सकते है ऐसे में कुछ कंपनियां सामने आई है |

Mutual Fund in Hindi: म्युचुअल फंड क्या है? जाने हिंदी में

म्यूच्यूअल फंड कैसे काम करता है

अब आप ये भी जानना चाहते होंगे कि Mutual Fund कैसे काम करता है. आपको विज्ञापन से पता ही होगा कि इस स्कीम में कम से कम 500 रूपये भी लगा सकते हैं तो इस फण्ड में कंपनियां बहुत सारे लोगो से उनकी छोटी रकम द्वारा एक बड़ी रकम बना लेती है और इस रकम को कंपनियां अलग अलग और बड़ी कंपनियों के स्टॉक खरीदने में लगा देती है और जो इन कंपनियां के एक्सपर्ट लोग होते है उन्हें पता रहता है कि कब कौन सा शेयर कम या ज्यादा होने वाला है

चुकीं लोगो से जमा की गयी रकम को अलग अलग कंपनी के स्टॉक में लगाया जाता है इसलिए अगर एक कंपनी के शेयर गिर जाते है तो ये लोग दूसरी कंपनी से हुए प्रॉफिट से उस पैसे को रिकवर कर लेते है. जब पैसा रिटर्न होता है तो ये कंपनियां अपना 2% से 3% चार्ज काटकर आपको पैसा दे देती हैं.

इसके अलावा अगर आप सोच रहे हैं कि आज आपने 500 रूपये Mutual Fund में लगा दिए तो आप अगले 2 या 3 दिन में 1000 कमा लेंगे तो ऐसा नहीं होगा. अगर आप Mutual Fund में लम्बे समय के लिए पैसे रखते है तो आपको फायदा होगा क्योंकि आपके द्वारा लगाये गए पैसे से और पैसा बनता जायेगा और पर्याप्त समय के बाद आपको अच्छा ख़ासा पैसा मिलेगा |

अब मान लीजिये की इस एक लाख के निवेश की कीमत बढ़ कर एक महीने के बाद रुपये 1,20,000 हो गयी. अब इस निवेश के अनुसार यूनिट की कीमत निकाली जायेगी तो दस रुपये वाला यूनिट अब बारह रुपये का हो चुका है. जिस निवेशक ने एक हजार रुपये में सौ यूनिट खरीदे थे, बारह रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से अब उसका निवेश (100X12) रुपये 1200 हो चुका है|

Shares और Mutual Fund में निवेश का अंतर

म्यूचुअल फंड के यूनिट्स में निवेश करना शेयरों में निवेश करने से अलग है। शेयरधारकों के अधिकारों में मतदान का अधिकार शामिल होता है मगर इसके विपरीत म्यूचुअल फंड अपने यूनिटधारकों को कोई मतदान का अधिकार नहीं देते हैं। शेयर में निवेश करने के लिये किसी एक कंपनी का शेयर खरीदा जा सकता है |

मगर म्यूचुअल फंड का एक यूनिट कई अलग-अलग शेयरों (या अन्य प्रतिभूतियों) में निवेश का हिस्सा होता है। शेयरों को बाजार के काम के घंटों में बेचा या खरीदा जा सकता है और बाजार के घंटों के दौरान इनकी कीमतों में उतार-चढ़ाव होता रहता है लेकिन इनके NAV को प्रत्येक व्यापारिक दिन के अंत में तय किया जाता है।

म्यूचुअल फंड के फायदे

Mutual Funds कई निवेशकों के लिए एक लोकप्रिय और आसानी से समझ में आने वाला निवेश का साधन है। ऐसे निवेशक जिनके पास शेयर मार्केट की जानकारी की कमी है, समय की कमी है या छोटा निवेश करना चाहते हैं से निवेशकों के लिए Mutual Funds में निवेश करना आसान है और साथ ही वे म्यूचुअल फंड के अन्य फायदे भी प्राप्त कर सकते हैं|

म्यूचुअल फंड के नुकसान

तरलता, विविधीकरण और पेशेवर प्रबंधन एक छोटे और नौसिखिए निवेशक को म्यूचुअल फंड की ओर आकर्षित करते हैं। हालांकि कोई भी निवेश बिना कमियों के नहीं होता है और इसलिये म्यूचुअल फंड में भी अपनी कमियां हैं। शेयरों की कीमतों की तरह इनकी यूनिटों की NAV में भी उतार चढ़ाव होता है। हालांकि इनका निवेश पेशेवर प्रबंधकों द्वारा संचालित होता है और वे आम निवेशकों और बाजार में मिलने वाले रिटर्न से बेहतर हो सकते हैं फिर भी म्यूचुअल फंड में निवेश पर रिटर्न की गारंटी नहीं होती और यह बाजार के रिस्क से प्रभावित हो सकता है। यहां देखते हैं म्यूचुअल फंड से होने वाले नुकसान विस्तार से:

1. Returns are not Sure

म्यूचुअल फंड के निवेश में मार्किट से संबंधित रिस्क निहित होता है और रिटर्न की गारंटी नहीं होती है। कई बार जितना निवेश किया उस में भी कमी हो सकती है।

2. Charges

Asset Management Charges इन्हें आमतौर पर AMC कहते हैं। इसके अलावा निवेश करने से पहले इस पर लगने वाले एंट्री शुल्क और एग्जिट शुल्क देख लें। कई बार ये शुल्क कुल मिला कर 2% से भी अधिक हो सकते हैं। लंबी अवधी के SIP निवेश में 1% का शुल्क भी मैच्योरिटी वैल्यू पर बड़ा असर कर सकता है। इससे बचने के लिए डायरेक्ट प्लान में निवेश करने की कोशिश करनी चाहिए। फिर भी AMC से आप बच नहीं सकते।

2. Day to Day Control

आपका निवेश विशेषज्ञों द्वारा नियंत्रित होता है। हालाँकि ये फंड मैनेजरों द्वारा एनेलाइसिस और रिसर्च के आधार पर किया जाता हैं मगर अपने निवेश पर निवेशक का नियंत्रण नहीं रहता है।

3. Past performance is not Guaranteed

अक्सर निवेशक किसी फंड की पिछली परफ़ॉर्मेंस को देख कर उसमें निवेश कर देते हैं मगर फंड द्वारा पिछली परफ़ॉर्मेंस को दोहाराने की गारंटी नहीं होती। फंड्स की रेटींग भी पिछली परफ़ॉर्मेंस के आधार पर ही की जाती है। रेटिंग के कारण से यदि निवेश किया जाता है तो भी ज़रूरी नहीं कि फंड अपनी परफ़ॉर्मेंस को दोहराएगा।

Mutual Fund in Hindi (FAQ):

सबसे बेस्ट म्यूच्यूअल फण्ड कौन सा है?

  • 1/6. इक्विटी म्यूचुअल फंड (SIP) खासकर नए निवेशकों के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड (SIP) में निवेश करना अच्छा ऑप्शन है
  • 2/6. SBI स्मॉल कैप फंड
  • 3/6. HDFC स्मॉल कैप फंड
  • 4/6. कोटक स्मॉल कैप फंड
  • 5/6. एक्सिस स्मॉल कैप फंड

म्यूच्यूअल फंड का पैसा कैसे निकाले?

म्यूचुअल फंड हाउस (एसेट मैनेजमेंट कंपनी) के माध्यम से की गई है, तो आपके पास पोर्टल पर लॉग-इन करने के लिए एक आई.डी और पासवर्ड होगा। पोर्टल में लॉग-इन के बाद निवेशक ऑनलाइन ही यूनिट खरीद सकता है और किसी मौजूदा फंड यूनिट को आसानी से रिडीम कर सकता है।

म्यूचुअल फंड को हिंदी में क्या कहते हैं?

म्यूचुअल फंड (अंग्रेज़ी:Mutual fund) जिसे हिन्दी में पारस्परिक निधि कहते हैं, किन्तु इसका अंग्रेज़ी नाम अधिक प्रचलित है|

यह भी पढ़े –

Aaj Kitni Tarikh Hai | आज कितनी तारीख है? जाने

RIP Meaning in Hindi: RIP का मतलब जाने हिंदी में

Yada Yada hi Dharmasya: यदा यदा ही धर्मस्य फुल श्लोक हिंदी अर्थ जाने

Conclusion / निष्कर्ष:-

आशा करता हु दोस्तों आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आया होगा। और इस पोस्ट मे मेने Mutual Fund in Hindi: म्युचुअल फंड क्या है? जाने हिंदी में इसके बारे मे पूरी जानकारी दी हुई है। Mutual Fund in Hindi

इसके लिए आप मेरे इस पोस्ट को शेयर भी कर सकते हो |अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं |

इसी तरह के जानकारी के लिए आप हमारी Website पर Visit करे, और अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने मित्रों को और अपने सोशल साइट शेयर जरूर करें, धन्यवाद |

Leave a Comment